कैशियर कि पोल खुलते ही तिलमिलाहट में युवक पर करा दिया गाली-गलौज का फर्जी शिकायत

कैशियर कि पोल खुलते ही तिलमिलाहट में युवक पर करा दिया गाली-गलौज का फर्जी शिकायत

जांजगीर-चांपा :- जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक शाखा बिर्रा में पदस्थ कैशियर एमडी आर्य कि करतूत कि पोल खुलते ही तिलमिला उठे,वहीं तिलमिलाहट में कैशियर ने एक युवक पर जातिगत गाली-गलौज का फर्जी शिकायत दर्ज करा दिया गया है।

दरअसल पुरा मामला जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक शाखा-बिर्रा का हैं,जहाँ इनदिनों कैशियर कि मनमानी जोरों पर है,कैशियर एम.डी.आर्य द्वारा आयेदिन किसानों से दुर्व्यवहार किया जाता है,जिससे किसान परेशान हैं।यहां कैशियर बाबू का सारा काम आफिस में पदस्थ सिक्योरिटी गार्ड मनहरण चन्द्रा द्वारा किया जाता है,जिससे बैंक की सुरक्षा पूरे दिन भगवान भरोसे रहती हैं,वहीं इसकी खबर प्रमुखता से प्रकाशित किया था,जिससे कैशियर एमडी आर्य अपनी करतूत को छुपाने के लिए एक युवक पर जातिगत गाली-गलौज का फर्जी शिकायत दर्ज करा दिया गया जिससे अब क्षेत्र के किसानों में रोष व्याप्त है। 

खबर प्रकाशन के बाद ही शिकायत क्यूँ

कैशियर एमडी आर्य ने अपनी शिकायत में बताया अनुसार 3 जनवरी को पूरी घटना घटित हुई,जब फर्जी आहरण,जातिगत गाली-गलौज का मामला था तो उसदिन ही इसकी शिकायत थाने में क्यूँ नहीं कि गई,7 जनवरी को सहकारी बैंक बिर्रा में गार्ड करता है कैशियर का काम शीर्ष से विभिन्न समाचार पत्रों में खबर प्रकाशित हुआ वहीं कैशियर को अपने पोल खुलने का डर सताने लगा,जिससे बचने के लिए कैशियर एमडी आर्य द्वारा खबर प्रकाशन के बाद 8 जनवरी को जातिगत गाली-गलौज का शिकायत थाने में दर्ज कराया गया। 

अब सवाल यह उठता है आखिर कैशियर साहब को मामला दर्ज कराने में 5 दिन का वक्त कैसे लग गया,कही अपने पोल खुलने के डर से षड्यंत्र पुर्वक युवक को फंसाया तो नहीं जा रहा है यह क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है। 

कैशियर के पिछले 1 माह के डेली ट्रांजेक्शन रिपोर्ट कि हो जांच

वहीं किसानों ने कैशियर एमडी आर्य पर मनमानी का आरोप लगाते हुए मांग कि हैं कैशियर द्वारा पिछले एक माह के डेली ट्रांजेक्शन रिपोर्ट का जांच किया जाये,रोज किसानों को कितना भुगतान हुआ है इसकी जांच कि जाये। 

एक किसान ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि कैशियर द्वारा किसानों को रोज लिमिट होने का हवाला देकर 25-50 हजार महज दिया जाता है,लेकिन भीतर खाने से कई लोगों का लाखों रुपये तक का आहरण कर दिया जाता है,यदि डेली ट्रांजेक्शन रिपोर्ट निकाला जाये तो चौकाने वाला मामला सामने आयेगा। 

आधिकारीयों का संरक्षण,कैशियर के हौसले बुलंद

कैशियर एमडी आर्य अपनी पहुँच उच्च आधिकारीयों तक बताता है,कैशियर अपना सारा काम गार्ड से कराता है जिसकी जानकारी उच्च अधिकारियों को दी गई लेकिन आधिकारीयों के संरक्षण में कैशियर का हौसले बुलंद है,वहीं कैशियर पर कार्यवाही नहीं होने क्षेत्र के किसानों में रोष व्याप्त है।