त्रिपुरा के सीपीएम ऑफिस और पांच मीडिया हाउस पर हमला

घटना के बार में बताते हुए संपादक अयूब सरकार ने कहा कि बुधवार को बीजेपी कार्यकर्ताओं ने गोमती में एक रीजनल चैनल दुरंत टीवी के कार्यालय में आग लगा दी और मौके पर दमकल गाड़ियों को भी पहुंचने से रोक दिया.

त्रिपुरा के सीपीएम ऑफिस और पांच मीडिया हाउस पर हमला
पांच मीडिया चैनलों पर हमला

त्रिपुरा के पांच मीडिया चैनलों और CPM पार्टी ने बीजेपी की एक रैली पर उनके कार्यालयों में तोड़फोड़ करने का आरोप लगाया है. दरअसल बुधवार की शाम बीजेपी की एक रैली ने कम से कम पांच मीडिया चैनलों (PB 24, प्रतिबाडी कलाम, कलमर शक्ति, दैनिक देशरकाथा, दुरंत टीवी) और CPM पार्टी के दो कार्यालयों में कथित रूप से तोड़फोड़ की और चैनलों में आग लगा दी. पुलिस ने बताया कि रैली का नेतृत्व बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष राजीव भट्टाचार्जी और दो सचिवों टिंकू रॉय और पापिया दत्ता कर रहे थे.

सब डिविजनल पुलिस अधिकारी रमेश यादव ने कहा कि फिलहाल पुलिस CCTV फुटेज की जांच कर रही है और सभी दोषियों पर जल्द ही मामला दर्ज किया जाएगा. उन्होंने कहा कि कानून-व्यवस्था को बनाए रखने के लिए फिलहाल बीजेपी की रैली को रोक जी गई है. हालांकि पत्रकारों के संगठनों ने पुलिस को दोषियों को पकड़ने के लिए 12 घंटे का समय दिया है, नहीं तो मीडिया संगठन सड़कों पर उतरेंगे.

कार्यालय में लगा दी आग

वहीं इस घटना के बार में बताते हुए संपादक अयूब सरकार ने कहा कि बुधवार को बीजेपी कार्यकर्ताओं ने गोमती में एक रीजनल चैनल दुरंत टीवी के कार्यालय में आग लगा दी और मौके पर दमकल गाड़ियों को भी पहुंचने से रोक दिया. दूसरी तरफ बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष माणिक साहा ने तर्क दिया कि पहले माकपा के कार्यकर्ताओं ने अपने पश्चिम त्रिपुरा के ऑफिस से बीजेपी की रैली में पत्थर और ईंटें फेंकी. जिसके बाद जवाबी कार्रवाई करते हुए, BJP के कार्यकर्ता गलती से पास की एक इमारत में घुस गए, जिसमें दो समाचार और एक टीवी चैनल था और कार्यालय में तोड़फोड़ की.

पत्रकारों को दी गाली

इसके अलावा “प्रतिबाड़ी कलाम” के प्रोपराइटर-एडिटर अनल रॉयचौधरी ने आरोप लगाया है कि बुधवार शाम बीजेपी नेताओं के नेतृत्व में कैडरों के एक समूह ने मीडिया हाउस में प्रवेश किया. भीड़ ने आते ही ऑफिस के सीसीटीवी कनेक्शन को काट दिया, कार्यालय में तोड़फोड़ की और दस्तावेज छीन लिए, इसके अलावा अधिकारी की मौजूदगी में पत्रकारों को गाली दी. वहीं इस घटना में दो पत्रकार घायल हो गए हैं.

रायचौधरी ने दावा किया कि उपद्रवियों ने मीडिया हाउस की दो मोटरसाइकिलों और एक वाहन को आग के हवाले कर दिया और एक हार्ड डिस्क छीन ली. बाद में, वे सीपीएम जिला कार्यालय में घुस गए और वहीं भी दो गाड़ियों में आग लगा दी.