तेंदूपत्ता तोड़ने गए बैगा आदिवासी पर भालू ने किया हमला,,भालू के हमले से बैगा आदिवासी की मौके पर ही मौत

तेंदूपत्ता तोड़ने गए बैगा आदिवासी पर भालू ने किया हमला,,भालू के हमले से बैगा आदिवासी की मौके पर ही मौत

लोरमी -- मुंगेली जिले से अचानकमार टाइगर रिजर्व क्षेत्र से एक बड़ी खबर निकल कर आ रही है जिसने बताया जा रहा है कि भालू के हमले से एक 45 वर्षीय बैगा आदिवासी की मौत हो गई है इस घटना की जानकारी मिलने के बाद एटीआर प्रबंधन के आला अधिकारी मौके पर पहुंचकर शव का पंचनामा बनाकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

पूरी घटना अचानकमार टाइगर रिजर्व ओके कोटा बफर क्षेत्र के कक्ष क्रमांक 179 की है जहां पर करीब 3 आदिवासी बैगा तेंदूपत्ता तोड़ने गए हुए थे जहां पर अपने बच्चे के साथ घूम रहे भालू ने अचानक इन पर हमला कर दिया हमले से एक आदिवासी बुरी तरह से घायल हो चुका था जिस की मौके पर ही मौत हो गई वहीं दो अन्य बैगा आदिवासी भालू के हमले से अपनी जान बचा कर मौके से भाग निकले जिनके द्वारा वन विभाग के आला अधिकारियों को घटना की जानकारी दी गई जिसके बाद अचानकमार टाइगर रिजर्व के अधिकारी कर्मचारी घटनास्थल पर पहुंचकर शव का पंचनामा कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। जानकारी मिली है कि मृतक कोटा बफर क्षेत्र के कुरदर गांव का रहने वाला है। वहीं इस घटना की जानकारी हमने जब अचानकमार टाइगर रिजर्व के उपसंचालक से ली तो उन्होंने बताया कि प्रत्यक्षदर्शियों से बताया कि मृतक को पहले से ही जानकारी थी कि उस क्षेत्र में भालू का मूवमेंट है जिसके कारण पहले भी वह कई लोगों को मना कर चुका है कि उस क्षेत्र में तेंदूपत्ता तोड़ने ना जाएं लेकिन पता नहीं वह किस तरह तेंदूपत्ता तोड़ते हुए उस इलाके में पहुंच गया जिसके बाद भालू के द्वारा उसके ऊपर हमला किया गया जिस पर उसकी मौके पर ही मौत हो गई है।