केंद्र सरकार की बड़ी उपलब्धि, आयुष्मान भारत के तहत गरीब लोगों को अब तक 25,000 करोड़ रुपये का मिला फायदा

2 करोड़ लोगों को अस्पताल में भर्ती कराके इस योजना के तहत इलाज मिला है, उनमें से कई ऐसे लोग थे जो ऐसी बीमारियों का सामना कर रहे थे जिनमें जान भी जा सकती थी.

केंद्र सरकार की बड़ी उपलब्धि, आयुष्मान भारत के तहत गरीब लोगों को अब तक 25,000 करोड़ रुपये का मिला फायदा
गरीब लोगों को 25,000 करोड़ रुपये का फायदा

मोदी सरकार (Modi Government) ने आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (AB PM-JAY) के तहत 2 करोड़ लोगों के इलाज (Treatment) पूरा करने की उपलब्धि हासिल कर ली है. स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) का दावा है कि इस योजना से गरीब लोगों (Poor People) को अब तक 25,000 करोड़ रुपये से अधिक का लाभ हुआ है. देश के स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया (Health Minister Mansukh Mandavia) ने बुधवार को इस योजना के तहत 2 करोड़ लोगों के इलाज पूरा होने की उपलब्धि के अवसर पर कहा कि ये वही लोग हैं जो गरीबी की वजह से अपना इलाज सही ढंग से नहीं करा पाते थे. जिन 2 करोड़ लोगों को अस्पताल में भर्ती कराके इस योजना के तहत इलाज मिला है, उनमें से कई ऐसे लोग थे जो ऐसी बीमारियों का सामना कर रहे थे जिनमें जान भी जा सकती थी. इस योजना ने बहुत सारे लोगों को नया जीवन दान देने का काम किया है.

23 सितंबर 2018 को आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत हुई थी

बता दें कि 23 सितंबर 2018 को पीएम मोदी ने आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की शुरुआत झारखंड की राजधानी रांची से की थी. उस वक्त पीएम ने कहा था कि इस योजना के जरिए हम एक ऐसा भारत बनाना चाहते हैं, जहां हर नागरिक स्वस्थ्य हो और स्वास्थ्य सेवाओं पर होने वाला खर्च नागरिकों पर बोझ न बने.

दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम

मांडविया ने आगे कहा कि PM-JAY दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम है. इसके लाभार्थियों की संख्या 55 करोड़ से अधिक है. भारत जैसे देशों में देखा गया है कि हेल्थकेयरर पर होने वाला खर्च सामान्य परिवारों पर बहुत बड़ा बोझ बन जाता है. खासकर गरीब परिवारों के लोगों को इलाज के लिए कर्ज लेना पड़ता है. महिलाओं को अपना जेवर गिरवी रखना पड़ता है. हम सबने देखा-सुना होगा कि लोगों को इलाज के लिए अपनी जमीन-जायदाद तक बेचनी पड़ती है. जिंदगी भर की बचत एक झटके में बीमारी छिन लेती है. प्रधानमंत्री जी की पहल पर शुरू हुई इस योजना ने ऐसे लोगों का दुख-दर्द दूर करने का काम किया है.