प्रदेश के मुखिया की दहाड़,एक कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री भूपेष बघेल ने कहा काका अभी जिंदा है......

प्रदेश के मुखिया की दहाड़,एक कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री भूपेष बघेल ने कहा काका अभी जिंदा है......

रायपुर(छत्तीसगढ़)

मुख्यमंत्री पद की रार खत्म नहीं हुई है धीमी जरूर है। ढाई ढाई साल  के पॉवर शेयरिंग फॉर्मूले पर चर्चा थमने का नाम नहीं ले रहा है। शनिवार को इससे जुड़े एक सवाल के जवाब में टीएस सिंह देव जल्द समाधान होने की बात कही। वहीं शनिवार को छत्तीसगढ़ में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा ‘काका अभी जिंदा हैं...’इन शब्दों को मुख्यमंत्री की कुर्सी से जोड़कर देखा जा रहा है। मुख्य मंत्री भूपेष बघेल के समर्थक उन्हें काका कहते है


सिंह देव ने कहा कि अगर मीडिया यह पूछ रही है कि आगे क्या होगा तो जरूर वह सुन रही है राज्य के लोग किस बारे में बात कर रहे हैं। इस दौरान उनका इशारा पावर शेयरिंग फॉर्मूला की तरफ था। उन्होंने आगे कहा कि मेरी लोगों से अपील है कि वह इन बातों पर ध्यान न दें। हम राज्य के भले के लिए काम कर रहे हैं। आगे जो भी होगा राज्य में कल्याणकारी काम होते रहेंगे। इससे पहले सिंह देव और बघेल शनिवार को इंडियन फार्मास्युटिकल एसोसिएशन की छत्तीसगढ़ शाखा द्वारा रायपुर में आयोजित एक कार्यक्रम में साथ देखे गए थे।

इसी कार्यक्रम के दौरान जब भूपेश बघेल लोगों को संबोधित कर रहे थे उनके समर्थक ‘काका जिंदाबाद’ के नारे लगा रहे थे। तभी भूपेश बघेल अपना भाषण रोककर बोल पड़े, ‘काका अभी जिंदा हैं...’। यह वीडियो क्लिप बघेल कैंप के नेताओं और समर्थकों द्वारा सोशल मीडिया पर खूब शेयर की जा रही है। खुद बघेल ने अपने टि्वटर और फेसबुक अकाउंट पर शेयर किया हुआ है। माना जा रहा है कि इस एक वाक्य से भूपेश बघेल ने बताने की कोशिश है कि मुख्यमंत्री की उनकी कुर्सी पर कोई खतरा नहीं है। 

इसी कार्यक्रम में टीएस सिंह देव ने भी भूपेश बघेल की तारीफ की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने सभी विभागों की मांग को पूरा किया है। वह इसको लेकर बहुत संवेदनशील रहे हैं। सिंह देव ने कहा कि यही वजह है कि मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विभाग में 3900 पदों को मंजूरी दी है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ ने कई क्षेत्रों में तरक्की की है। देश में लोग अब छत्तीसगढ़ मॉडल की चर्चा कर रहे हैं।