मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना बना नगर वासियों के लिए संजीवनी... मरीजों का हुआ निःशुल्क उपचार कहां थैंक्यू भूपेश सरकार...

मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना बना नगर वासियों के लिए संजीवनी... मुख्यमंत्री शहरी स्लम  स्वास्थ्य योजना से हो रहा नगर वासियों का निशुल्क उपचार... मेडिकल मोबाइल यूनिट से हुआ निःशुल्क उपचार मरीजों ने कहा थैंक यू भूपेश सरकार...

मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना बना नगर वासियों के लिए संजीवनी... मरीजों का हुआ निःशुल्क  उपचार कहां थैंक्यू भूपेश सरकार...

जांजगीर चांपा:-  छत्तीसगढ़ सरकार की महत्वकांक्षी योजना मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना जिसमें नगरी निकाय में रहने वाले रहवासियों के लिए मोबाइल मेडिकल यूनिट के माध्यम से निशुल्क स्वास्थ्य सेवा दिया जा रहा है . इस योजना के तहत अब तक प्रदेश के कई हजार लोगों ने इस योजना का लाभ लिया है. इस योजना के आने से गरीब तबके के लोगों को एक बड़ी राहत मिली है. इस योजना के अंतर्गत नगरी निकाय के अलग अलग चिन्हाकित शिविर स्थलों पर निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर  का कैंप लगाया जाता है. जिसमें एक अस्पताल जैसा सुसज्जित एक बस होता है जिसमें डॉक्टर फार्मासिस्ट लैब टेक्नीशियन नर्सिंग स्टाफ वाहन चालक की टीम होती है जिसमें बस पूरी तरीके से एक चलित अस्पताल है .

इस निशुल्क स्वास्थ्य शिविर में एमबीबीएस डॉक्टर द्वारा चिकित्सा परामर्श वही निशुल्क खून पेशाब की जांच होती है यही जांच अगर आप प्राइवेट जगहों पर कराएंगे तो आपको एक मोटी रकम चुकानी पड़ेगी महानगरों में मिलने वाली जांच की सुविधा अब इसी चलित अस्पताल में आपको मिल जाएंगे तो वही जो महंगे दवाई आप निजी मेडिकल स्टोर में खरीदते हैं वे दवाई अब आपको सरकार की इस योजना में चलने वाले चलित अस्पताल में निःशुल्क  मिल जाएगा. ह्रदय जांच के लिए ईसीजी  सुविधा के  साथ साथ आपातकालीन की  विभिन्न सुविधाएं उपलब्ध हैं.

क्या होता है  मोबाइल मेडिकल यूनिट


मोबाइल मेडिकल यूनिट को अगर हम चलता फिरता अस्पताल कहे तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी. दरसल में मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के बने इस बस में एक सुसज्जित वातानुकूलित अस्पताल बस के भीतर होता है. जहां मरीजों को विभिन्न प्रकार की सुविधा उपलब्ध होती है. जहां पर डॉक्टर कक्ष, पैथोलॉजी लैब कक्ष, मेडिकल स्टोर, ऑक्सीजन की सुविधा समेत विभिन्न सुविधाएं इसी बस के भीतर मौजूद है .  आपको बता दें कि पैथोलॉजी लैब में सभी प्रकार की जांच निशुल्क रूप से की जाती हैं वही स्पेशल जांच के लिए जिसे बाहर भेजा जाता था वह भी जांच इस योजना के तहत यहां निशुल्क होंगे. इस यूनिट में इंतजार करने वाले मरीजों को बैठने की सुविधा से लेकर उनके लिए ठंडे पानी की व्यवस्था भी की गई है. अगर आसान भाषा में कहा जाए कि एक निजी अस्पताल या निजी क्लीनिक में मरीज को जो सुविधा मिलती है उससे कई गुना बेहतर सुविधाएं अब सरकार की इस योजना के तहत लोगों को घर पहुंच सुविधा मिल रही है.


समय का रहता है महत्वपूर्ण ध्यान

आपको बता दें कि इस वातानुकूलित मोबाइल मेडिकल यूनिट में पदस्थ डॉक्टर से लेकर पैरामेडिकल स्टाफ समय के पाबंद होते हैं यह अपने निर्धारित समय पर ड्यूटी स्थल पहुंच जाते हैं. साथ ही साथ कम समय में मरीजों की होने वाली जांच रिपोर्ट भी उपलब्ध हो जाता है. जहां मरीजों को जांच रिपोर्ट का इंतजार करना नहीं पड़ता.


मुख्यमंत्री का यह योजना किसी वरदान से कम नहीं

आपको बता दें कि यह योजना गरीब वर्ग के लोगों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है . क्योंकि आज के दौर में बढ़ती महंगाई में निजी अस्पतालों में इलाज कराना गरीब एवं मध्यम वर्ग के लोगो को के लिए महंगाई में दोहरी मार झेल ने के बराबर है. लेकिन मुख्यमंत्री की इस महत्वकांक्षी योजना से निशुल्क गुणवत्तापूर्ण  इलाज होना किसी वरदान से कम नहीं है.

वही नगर पालिका चांपा के वार्ड क्रमांक 13 घोघरानाला निवासी संगीता यादव ने बताया कि उनकी बेटी प्राची यादव उम्र 15 साल जो  काफी कमजोर थी जिसकी वजह से उन्हें कई दिक्कतों का सामना करना पड़ता था .आर्थिक स्थिति ठीक न होने की वजह से वह अस्पताल में इलाज सभी समय पर नहीं करा पा रही थी लेकिन जब यह चलित अस्पताल उनके घर के सामने लगा तब वह पहली बार इलाज कराने पहुंची जहां पता चला कि उसके शरीर में 5.4 ग्राम हिमोग्लोबिन है मेडिकल  भाषा मे कहा जाये तो एनीमिया (खून की कमी)था  .जिसके बाद डॉक्टरों की परामर्श एवं उपचार के उपरांत आज एक माह बाद 10 ग्राम हिमोग्लोबिन है. मरीज के परिजनों द्वारा डॉक्टर एवं पैरामेडिकल टीम को धन्यवाद देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री की यह योजना हमारे लिए तो वरदान बनी.


वही मरीज सुनीता बाई ने बताया कि उनके घर में कोई कमाने वाले नहीं है सरकार के द्वारा मिलने वाली पेंशन राशन से उनका गुजारा चलता था लेकिन शुगर बीपी के मरीज होने की वजह से पेंशन से मिलने वाली राशि जिससे वो अपने महीने भर की दवाई लेती थी. जिसके बाद उनके पास के पूरे पैसे खत्म हो जाते थे. लेकिन अब वे मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के तहत स्वास्थ्य शिविर कैंप में जाकर अपना उपचार करा रही है .जहां पर निशुल्क उपचार निशुल्क खून पेशाब की जांच के साथ-साथ उन्हें निशुल्क दवाई भी उपलब्ध कराई जा रही है जिसकी वजह से अब उनका पेंशन से मिलने वाली राशि अब उनके पास ही रह जाती हैं. उन्होंने कहा कि मेरे जैसे कई और लोग भी हैं जो ऐसी इस योजना का लाभ उठा रहे हैं यह योजना हमारे लिए किसी बुढ़ापे की लाठी से कम नहीं है.


हर कोई उठाये इस योजना का लाभ

मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना सरकार  के महत्वकांक्षी योजनाओं में से एक है  जो कि लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देने के लिए बनाया गया है . इस योजना का लाभ हर कोई उठा सकता है जो कि पूर्णतः निशुल्क है. जिसका लाभ अब तक जांजगीर चांपा जिले के सभी नगरी निकाय में अप्रैल और मई माह में कुल 17622 लोगों ने इस योजना का लाभ उठाया है. साथ ही साथ हमारी मेडिकल टीम पूरी लगन के साथ अपनी सेवाएं दे रहे हैं और हम  लोगों से अपील करते हैं कि वे अधिक से अधिक संख्या में इस योजना का लाभ उठाएं.

हुमेश जायसवाल

 जिला समन्वयक मोबाइल मेडिकल यूनिट (मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना)


जिले के सभी नगरीय निकाय में मिल रहा  इस योजना का लाभ

छत्तीसगढ़ सरकार की महत्वकांक्षी योजनाओं में से यह एक योजना है जिसमें लोगों को निशुल्क स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराना है, जिसमें मोबाइल मेडिकल यूनिट की टीम जिसमें डॉक्टर फार्मासिस्ट लैब टेक्नीशियन एएनएम चलित अस्पताल में रहते हैं वर्तमान में जिले में कुल 6 मोबाइल मेडिकल यूनिट है जोकि जिले के अलग-अलग निकाय क्षेत्र में निर्धारित शिविर स्थल पर जाकर टीम द्वारा अलग-अलग नगरीय निकाय में कैंप लगाकर लोगों का निशुल्क इलाज खून एवं पेशाब की जांच निशुल्क दवाई के साथ-साथ स्वास्थ्य जागरूकता का संदेश दिया जा रहा है.

 चंदन शर्मा  CMO जांजगीर नैला


स्वास्थ्य सुविधा के क्षेत्र में वरदान साबित हो रहा यह योजना

इस योजना से गरीब तबके के लोगों को बड़ी राहत मिल रही है .हमारे प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री के भगीरथ प्रयास से प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं को सुदृढ़ करने कि यह एक नेक पहल है जिससे हर कोई लाभान्वित हो रहे हैं. मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना को लाकर बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देने की यह हमारी कांग्रेस सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं में से एक है. प्रदेश में हर किसी का गुणवत्तापूर्ण उपचार हो प्रदेश में स्वास्थ्य विभाग में कोई अभाव ना हो इसीलिए इस योजना को लागू किया गया है. मैं माननीय मुख्यमंत्री जी को धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने गरीबों के हित में निशुल्क स्वास्थ्य सुविधा के लिए इस योजना को लागू किए हैं. साथ ही साथ में सभी लोगों से अपील करना चाहूंगा कि आप भी इस योजना का लाभ जरूर उठाये और जरूरतमंदों को इस योजना के लिए प्रेरित करें.

रामकुमार यादव 

विधायक चंद्रपुर एवं उपाध्यक्ष छत्तीसगढ़ ग्रामीण विकास एवं पिछड़ा वर्ग विकास प्राधिकरण