भूमाफिया का राजधानी बन गई है बिलासपुर शहर की बेसकीमती जमीन को लूटने काम कर रहे कांग्रेसी नेता: वरिष्ठ बीजेपी नेता अमर

भूमाफिया का राजधानी बन गई है बिलासपुर शहर की बेसकीमती जमीन को लूटने काम कर रहे कांग्रेसी नेता: वरिष्ठ बीजेपी नेता अमर

भूमाफिया का राजधानी बन गई है बिलासपुर शहर की बेसकीमती जमीन को लूटने काम कर रहे कांग्रेसी नेता: बीजेपी नेता अमर

कांग्रेस के ढाई साल में सारे काम ठप्प, अमृत मिशन की खोदी सड़क बनाने में जमकर भ्रष्टाचार

बिलासपुर। भाजपा ने शुक्रवार को निगम प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोला। शहर के पांच वार्डो में भाजपा के धरना आंदोलन में पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल शामिल हुए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस शासनकाल में ढाई साल में सारे काम ठप्प पड़े हुए है नये काम तो दूर सड़को की मरम्मत व नालियों की सफाई भी नही हो रही है। सभी वार्डो में मूलभूत समस्याओं का अम्बार है। अमृत मिशन की खोदी सड़क को बनाने में कांग्रेस के नेता भ्रष्टाचार कर रहे है। 
  पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल ने नेहरू नगर, जरहाभांठा राजीव गांधी चौक, गोड़पारा, सरकंडा तथा टिकरापारा में भाजपा के धरना सभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर हमला बोला और कहा कि जब से प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आई है लोगो के जानमाल की चिंता सता रही है। कांग्रेस शासनकाल में किसी की जमीन सुरिक्षत नही है। भूमाफिया का राजधानी बन गई है बिलासपुर शहर की बेस कीमती जमीन को लूटने का काम कांग्रेसी नेता कर रहे है।

आम जनता की कोई सुनवाई नही है ढाई साल में सारे विकास काम ठप्प पड़ गए है। इसलिए वार्ड की जनता को सड़क पर आना पड़ा। तीन माह में यदि जनता की समस्या का निराकरण नही होगा तो कांग्रेस के जनप्रतिनिधियों के घर के सामने धरना भाजपा देगी। जनता को बुनियादी सुविधा उपलब्ध कराने के लिए भाजपा प्रतिबद्ध है। पूर्व मंत्री ने कांग्रेस नेताओं पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा कि खोदी सड़क बनाने तथा बिजली मेंटनेश के नाम पर कांग्रेस के नेता कमीशन ले रहे है। रोज बिजली गुल हो रही है, बिजली बिल आधा नही बिजली आधी हो गई है।

पूर्व मंत्री ने शहर सरकार को जनता को बुनियादी सुविधायें उपलब्ध कराने के लिए तीन माह का अल्टीमेटम दिया है। समस्या का निराकरण नही होने पर कांग्रेस के जनप्रतिनिधियों के निवास का घेराव भाजपा करेगी।

अब तो बिलासपुर स्मार्ट सिटी को लोग भूल जायेंगे सात साल पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश की सौ स्मार्ट सिटी में बिलासपुर को शामिल किया था लेकिन स्मार्ट सिटी का काम थम गया है। 400 करोड़ के अमृत मिशन में भ्रष्टाचार किया जा रहा है। कांग्रेस को शहर विकास की चिंता नही है। उन्होंने कांग्रेस महापौर पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वे सभी को बता रहे है कि गलत समय पर महापौर बन गये है भाजपा शासनकाल के स्वीकृत निर्माण कार्य का नारियल फोड़ रहे है।

नेहरू नगर में आयोजित भाजपा के धरना में प्रमुख रूप से भाजपा के जिलाध्यक्ष रामदेव कुमावत, सुधा गुप्ता, अजीत सिंह भोगल, श्यामजी भाई पटेल, सुकांत वर्मा सहित वार्ड के अनेक नागरिकों ने भी नेहरू नगर में मूलभूत समस्या को लेकर अपनी बात कही। राजीव गांधी चौक में भी पानी निकासी, विद्युत अपूर्ति तथा सड़क निर्माण का मुद्दा भाजपा के धरना में उठा यहॉ पर धरना आंदोलन में पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल के अलावा भाजपा जिलाध्यक्ष रामदेव कुमावत, पूर्व महापौर उमाशंकर जायसवाल, किशोर राय, धीरेन्द्र केशरवानी, जुगल अग्रवाल, महेश चंद्रिकापुरे, मनीष अग्रवाल, नारायण गोस्वामी, मोनू रजक, शोभा कश्यप, ऋहष उपाध्याय, राजेश बंजारे, जितेन्द्र अंचल, मनीष गुप्ता सहित वार्ड के अनेक नागरिक मौजूद थे।
  गोडपारा में धरना सभा को संबोधित करते हुए पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल ने कांग्रेस नेताओं पर निशाना साधा और कहा कि जब भाजपा शासनकाल में अरपा के सौंदर्यीकरण की योजना बनाई गई उस समय कांग्रेस के लोग अरपा के सौंदर्यीकरण का विरोध करते हुए नदी किनारे के मकान तोड़ने का विरोध करते थे तथा रैली भी निकाली और कांग्रेस की सरकार बनते ही सबसे पहले नदी किनारे से सैकड़ों परिवारों को हटा दिया गया। सरकंडा में पूर्व मंत्री ने गरीबों के मकान के मामले में स्पष्ट कहा कि भाजपा शासनकाल में मोर जमीन मोर मकान योजना के तहत जो परिवार जहॉ रह रहा है वही पर मकान बनाकर दिया जाना है लेकिन कांग्रेस ऐसा नही कर रही है। गरीबों को उजाड़ रही है। 
 वार्ड क्र.35 के धरना आंदोलन में  भाजपा के जिलाध्यक्ष रामदेव कुमावत, मंडल अध्यक्ष निर्मल कुमार जीवनानी, पूर्व पार्षद सुरेन्द्र गुम्बर, जयश्री चौकसे, उदय मजूमदार, दीपक सिंह ठाकुर, विजय सलूजा, आसुतोष शर्मा, वल्लभ राव, शेखर पाल, रजनी यादव सहित अनेक कार्यकर्ताओं ने तथा वरिष्ठ नागरिकों ने सभा को संबोधित किया। इस अवसर पर पूर्व मंत्री ने यहॉ के नागरिकों से चर्चा करते हुए बताया कि निगम में तब तक जो भी काम हो रहे है वे भाजपा शासनकाल के स्वीकृत कार्य है नया काम के लिए इनके पास पैसा तक नही है और सड़क नाली की मरम्मत भी नही कर पा रहे है। एलईडी बल्फ भी नही बदल पा रहे है।