चीन में कोरोना का कहर! हफ्तों से घर में कैद रहने वाले भी हो रहे संक्रमित , ओमिक्रॉन वेरिएंट को रोकना हो रहा मुश्किल

बीजिंग में ओमिक्रॉन (Omicron) के प्रसार पर रोक लगाने के लिए कई पाबंदियां लागू की गई हैं. बीजिंग प्रशासन ने स्कूलों के बंद रहने की अवधि एक सप्ताह और बढ़ाने के अलावा कई मेट्रो स्टेशन, रेस्तरां और कारोबार को बंद करने का आदेश दिया है.

चीन में कोरोना का कहर! हफ्तों से घर में कैद रहने वाले भी हो रहे संक्रमित , ओमिक्रॉन वेरिएंट को रोकना हो रहा मुश्किल
चीन में कोरोना बेकाबू. (सांकेतिक तस्वरी)

चीन (China) के बीजिंग और शंघाई में कोरोनावायरस के ओमिक्रॉन वेरिएंट के प्रसार को रोकने के लिए कड़े प्रतिबंध लगाए गए हैं. राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने अधिकारियों से कोविड-शून्य नीति का पालन करने का निर्देश दिया और कहा कि महामारी की रोकथाम महत्वपूर्ण चरण में पहुंच गई है. इस बीच शुक्रवार को चीन में कोरोना के 4,628 नए मामले सामने आए हैं और 12 नई मौतों की रिपोर्ट की गई हैं. 1 अप्रैल को पूरे शंघाई (Shanghai) शहर को बंद कर दिया गया था, जिसके बाद चार लोगों के एक परिवार ने घर पर रहकर सरकारी आदेशों का पालन किया. केवल अनिवार्य PCR टेस्टिंग के लिए सामने के दरवाजे से बाहर निकले. परिवार की सदस्य वेरोनिका ने सोचा कि उसने सभी कोविड 19 (COVID-19) लॉकडाउन नियमों का पालन करते हुए सब कुछ ठीक किया है.

अप्रैल के मध्य में प्रतिबंधों में थोड़ी ढील दी गई, जिसके बाद लोगों को अपने कंपाउंड के भीतर चलने की अनुमति दी गई. इस दौरान वेरोनिका और उसके पड़ोसियों ने मास्क पहना. हफ्तों तक उसकी हाउसिंग एस्टेट सोसाइटी COVID-19 से मुक्त रही, लेकिन अप्रैल के अंत में वेरोनिका का 12वां पीसीआर टेस्ट पॉजिटिव निकला. इसके अलावा उसके परिवार का एक अन्य सदस्य और कुछ पड़ोसी कोविड पॉजिटिव पाए गए. वेरोनिका ने कहा, “मुझे नहीं पता कि हमें कोरोना ने कैसे पकड़ा.”

वेरोनिका ने का दावा, सभी नियमों का किया पालन

वेरोनिका की इमारत को “सील” घोषित कर दिया गया. उसे, उसके परिवार और पॉजिटिव पाए गए अन्य लोगों को क्वारंटीन कर दिया गया. बाकी सभी को 14 दिनों के लिए घर के अंदर वापस जाने का आदेश दिया गया. वेरोनिका ने एक क्वारंटीन सेंटर केंद्र से कहा, “मैंने सभी नियमों का पालन किया है.” वेरोनिका उन हजारों लोगों में शामिल हैं, जिन्हें कोरोना हुआ और वह वायरस से मुक्त थीं और हफ्तों तक घर में कैद रहीं. मामले इस बात को रेखांकित करते हैं कि अत्यधिक फैलने वाले ओमिक्रॉन वेरिएंट को रोकना कितना मुश्किल है क्योंकि चीन अपनी शून्य कोविड-19 ​​नीति से जुड़ा हुआ है.

शंघाई के लॉकडाउन के उपाय बेहद सख्त रहे हैं. खासकर अप्रैल के पहले दो हफ्तों के दौरान निवासियों को केवल असाधारण कारणों से जैसे कि एक चिकित्सा आपातकाल के लिए बाहर निकलने की अनुमति थी. कई लोगों को अपना सामान लाने के लिए दरवाजे से बाहर निकलने की भी अनुमति नहीं है. शंघाई के दैनिक मामलों की संख्या छह दिनों से कम हो गई है, लेकिन हजारों नए मामले दर्ज किए जा रहे हैं. इस बारे में अटकलें लगाई जा रही हैं कि COVID-19 कैसे फैल रहा है?

बीजिंग में ओमिक्रॉन के प्रसार पर रोक लगाने के लिए कई पाबंदियां लगाईं

बीजिंग में ओमिक्रॉन के प्रसार पर रोक लगाने के लिए कई पाबंदियां लागू की गई हैं. बीजिंग प्रशासन ने स्कूलों के बंद रहने की अवधि एक सप्ताह और बढ़ाने के अलावा कई मेट्रो स्टेशन, रेस्तरां और कारोबार को बंद करने का आदेश दिया है. करीब 2.1 करोड़ की आबादी वाले इस शहर में लोगों की प्रतिदिन कोविड-19 जांच के आदेश दिए गए हैं. बीजिंग में सभी किंडरगार्टन, प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालयों और माध्यमिक व्यावसायिक विद्यालयों ने 11 मई तक , एक और सप्ताह के लिए कक्षाएं स्थगित कर दी हैं. बीजिंग प्रशासन ने कहा कि विद्यार्थी स्कूलों में कब लौटेंगे, यह कोविड-19 संक्रमण की स्थिति पर निर्भर करेगा. जिन लोगों को वास्तव में बीजिंग छोड़ने की आवश्यकता है, उन्हें विमान या ट्रेन में सवार होने से पूर्व, 48 घंटे के भीतर एक न्यूक्लिक एसिड जांच का निगेटिव प्रमाणपत्र और एक ग्रीन हेल्थ कोड प्रस्तुत करना होगा.