शराबी पुलिसकर्मियों ने ग्रामीणों के साथ की गाली गलौच,,गाली गलौच करने वाले पुलिसकर्मियों को हटाने की मांग पर अड़े ग्रामीण

शराबी पुलिसकर्मियों ने ग्रामीणों के साथ की गाली गलौच,,गाली गलौच करने वाले पुलिसकर्मियों को हटाने की मांग पर अड़े ग्रामीण

लोरमी - शराब के नशे में खुड़िया चौकी पुलिस के दो पुलिसकर्मियों ने ग्रामीणों से मारपीट कर दी, इस घटना को लेकर कल देर रात बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने पुलिस सहायता केंद्र का घेराव कर दिया और पुलिस के खिलाफ जमकर नारे लगाए गए आनन-फानन में पुलिस अधिकारी ने आरक्षको का मूलाहिजा कराया और ग्रामीणों से लिखित शिकायत लेकर इसे जांच में लिया। फिर भी ग्रामीण मानने को तैयार नहीं है आरक्षकों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग कर रहे हैं। इस संबंध में प्राप्त जानकारी के मुताबिक ग्राम खुड़िया निवासी रोहित कारीकांत पिता तुलसी कारीकांत उम्र 22 वर्ष रविवार शाम को नहर के पास बाजार मैं चोकोबार खाने गया था, तभी शराब के नशे में धुत खुड़िया चौकी के आरक्षक मनोज नेताम, और नगर सैनिक हरीश ठाकुर दोनों सिविल ड्रेस में थे उन्होंने रोहित से अभद्र व्यवहार करते हुए जमकर गाली-गलौज की। इसकी जानकारी मिलने पर सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण खुड़िया पुलिस सहायता केंद्र पहुंच गए और उसका घेराव कर दिया और पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई यह नारेबाजी देर रात तक चलती रही पुलिस के उच्चाधिकारियों के आदेश पर मौके पर लोरमी थाना प्रभारी राजकुमार साहू पहुंचे तो ग्रामीणों ने नशे में धुत आरक्षकों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की तब उन्होंने तत्काल आरक्षको का डॉक्टरी  मुलाहिजा कराया, ग्रामीणों ने घटना की लिखित शिकायत एसडीओपी के नाम थाना प्रभारी को सौंपा है और इस मामले में कार्यवाही नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है। हालाकि थाना प्रभारी राजकुमार साहू ने ग्रामीणों से आवेदन लेकर जांच के पश्चात कार्यवाही का आश्वासन दिया है  उसके बाद भी ग्रामीणों में आरक्षको के खिलाफ जमकर आक्रोश देखा जा रहा है, देर रात तक ग्रामीण पुलिस चौकी को घेरे हुए हैं और जमकर नारेबाजी हो रही है।

इनका कहना है

कल शाम को मैं चोकोबार खाने के लिए गया था जहां पर हरीश ठाकुर द्वारा मेरे से जातिसूचक गाली गलौच किया गया जिसकी शिकायत करने हम लोग चौकी गए जहाँ हमसे मारपीट किया गया और हमारी शिकायत नही लिया गया वहीं लोरमी प्रभारी राजकुमार साहू के आने के बाद हमारे शिकायत को लिया गया जिसमें अभी तक कोई सुनवाई नही हुई है।

रोहित कान्तिकार (पीड़ित)

घटना दिनांक को मैं पुलिस अधीक्षक के आदेश पर महिला सम्मान समारोह में उपस्थित होने गया था शाम को जब मैं वापस आया तो करीब 10 से 15 लड़के आये थे और उन्होंने बताया कि आरक्षक मनोज नेताम और नगर सैनिक हरीश ठाकुर के द्वारा जातिगत गाली गलौच कर रहे है इस सम्बंध में आवेदन देने आए थे जिस पर मेरे द्वारा उनसे अवेफन लेकर उच्च अधिकारियों को अवगत कराया गया है साथ ही इस मामले की जांच की जा रही है वहीं दोनों पुलिस कर्मियों का डॉक्टरी मुलाहिजा भी कराया गया है जिसमे शराब सेवन की बात सामने नही आई है।

शिवकुमार कोसरिया (प्रभारी पुलिस सहायता केंद्र खुड़िया)

मुझे भी जानकारी मिली है कि खुड़िया चौकी के दो पुलिसकर्मियों के द्वारा गाली गलौच और मारपीट किया गया है इन पुलिसकर्मियोकी शिकायत एक महीने पहले भी मेरे द्वारा पुलिस अधीक्षक से की गई थी ये दोनों वहां अराजकता का माहौल बना रहे है आज भी मैंने पुलिस अधीक्षक से बात की है कि ऐसे उत्पात करने वाले पुलिसकर्मियों को हटाया जाए खुड़िया एक मछुवारा बाहुल्य क्षेत्र है वहां के लोग शांत जीवन व्यतीत करते है जब से वहां चौकी खुली है तब से पुलिस कर्मियों के द्वारा अशांति पैदा की जाती है इसीलिए मैने विधानसभा में भी खुड़िया चौकी को बंद करके डिंडौरी में खोलने की मांग की थी जिसमे मेरी एक मांग को पूरा किया गया लेकिन दूसरी मांग को अभी तक पूरा नही किया गया है। और इस मामले में मैंने पुलिस अधीक्षक से दोनों पुलिसकर्मियों को हटाने की मांग की है अगर 24 घण्टे के अंदर दोनों पुलिसकर्मी नही हटाये जाते है तो पुलिस अधीक्षक कार्यालय के समक्ष धरना दूंगा

धर्मजीत सिंह (विधायक लोरमी)