छत्तीसगढ़ सियासी हलचल :- मंत्री टीएस सिंह देव बोले कप्तान कौन नही बनना चाहता,शुक्रवार का दिन हो सकता छत्तीसगढ़ के लिए काफी महत्वपूर्ण.....

छत्तीसगढ़ सियासी हलचल :- मंत्री टीएस सिंह देव बोले कप्तान कौन नही बनना चाहता,शुक्रवार का दिन हो सकता छत्तीसगढ़ के लिए काफी महत्वपूर्ण.....

रायपुर(छत्तीसगढ़)

छत्तीसगढ़ कांग्रेस  में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। दिल्ली से सीएम भूपेश बघेल लौट आए हैं। वहीं, टीएस सिंह देव अभी दिल्ली में हैं। सीएम भूपेश बघेल ने दिल्ली से लौटने के बाद कहा था कि आलाकमान से निर्देश मिलते ही मैं पद से इस्तीफा दे दूंगा। आज स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव का बड़ा बयान आया है। उन्होंने कहा है कि कप्तान बनने की चाहत किसे नहीं होती है।


मंत्री टीएस सिंह देव ने कहा कि वह सीएम 50 साल, 10 साल या दो साल तक के लिए हैं, यह तय नहीं है। उन्होंने कहा कि भाई-बहनों में भी प्रतिद्वंदिता है। हाई कमान ने जो जिम्मेदारी दी है, उसे मैं निभाऊंगा। उन्होंने आगे कहा कि अगर कोई व्यक्ति किसी टीम में खेलता है तो क्या वह कप्तान बनने के बारे में नहीं सोचता ? क्या उन में से कोई कप्तान नहीं बनना चाहेगा। हर कोई इस बारे में सोचता है लेकिन सवाल उसके विचारों का नहीं, उसनकी क्षमताओं का है। इन चीजों पर फैसला हाईकमान लेता है।

वहीं, खबर है कि शुक्रवार को सीएम भूपेश बघेल फिर से दिल्ली जा रहे है। सियासी हलचल के बाद छत्तीसगढ़ से मंत्री और विधायक भी दिल्ली जाने लगे हैं। शुक्रवार का दिन छत्तीसगढ़ के लिए काफी महत्वपूर्ण है। आलाकमान विवाद को शांत करने के लिए शुक्रवार को कोई बड़ा फैसला ले सकता है।


दरअसल, छत्तीसगढ़ में ढाई-ढाई साल वाले फॉर्म्युले पर विवाद चल रहा है। सूत्र बताते हैं कि राहुल गांधी ने टीएस सिंह देव के सामने ढाई-ढाई साल वाला फॉर्म्युला दिसंबर 2018 में दिया था। इसके बाद सीएम के रूप में भूपेश बघेल की ताजपोशी हुई थी। जून में भूपेश सरकार के ढाई साल पूरे हो गए हैं। इसके बाद से खींचतान शुरू हो गई है