जिला पंचायत सीईओ की क्लास में तकनीकी अधिकरियों को जमकर लगी फटकार, 4 इंजीनियर और एक बीपीएम को शो काज नोटिस जारी....

जिला पंचायत सीईओ की क्लास में तकनीकी अधिकरियों को जमकर लगी फटकार, 4 इंजीनियर और एक बीपीएम को शो काज नोटिस जारी....

जिला पंचायत सीईओ ने ली विकास कार्यों की प्रगति की समीक्षा बैठक
कार्य के प्रति लापरवाह 4 इंजीनियर और एक बीपीएम को शो काज नोटिस जारी
कोरिया जिला पंचायत के मंथन कक्ष में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अंतर्गत चल रही समस्त विभागीय योजनाओं की प्रगति की समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई। जिला पंचायत सीईओ ने ग्रामीण क्षेत्रों में होने वाले समस्त विकास कार्यों की प्रगति का आंकलन करते हुए कार्य के प्रति लापरवाही बरतने वाले चार इंजीनियर और एक बीपीएम को कारण बताओ नोटिस जारी किए जाने के निर्देश दिए। शनिवार को आयोजित हुई इस बैठक में पंचायतों में चल रही समस्त विभागीय योजनाओं के साथ ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग के द्वारा कराए जा रहे समस्त कार्यों की ब्लॉकवार समीक्षा की गई। समीक्षा बैठक की शुरुआत गोधन न्याय योजना से प्रारंभ हुई। योजना की प्रगति की समीक्षा करते हुए जिला पंचायत सीईओ कुणाल दुदावत ने कहा कि सभी गौठानो मे खरीदे गए गोबर से वर्मी कम्पोस्ट बनाने का काम अविलंब प्रारंभ करें। इसके लिए वर्मी टैंक में गोबर के साथ ही पर्याप्त मात्रा में केंचुए और जैविक उत्पाद की लेयर डालें। लगातार निगरानी रखने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि आगामी एक माह में खरीदे जा चुके पूरे गोबर से वर्मी कम्पोस्ट बनाना सुनिश्चित करें। बैकुंठपुर के गौठानो में गोबर खरीदी के साथ ही वर्मी कम्पोस्ट निर्माण कार्य में लापरवाही के कारण बिहान की ब्लॉक प्रबंधक  सुप्रिया कश्यप को कारण बताओ नोटिस जारी किए जाने के निर्देश दिए। बैठक में उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित करते हुए उन्होंने कहा कि सभी मैदानी अधिकारी नियमित रूप से गौठानो का निरीक्षण करें और महिलाओं के स्व सहायता समूहों के कार्यों को प्रोत्साहित करें। गौठानो में आजीविका मिशन की गतिविधियों की समीक्षा करते हुए जिला पंचायत सीईओ ने कहा कि प्रत्येक गौठान में कम से कम पाँच आजीविका गतिविधियों का संचालन किया जाना है इसके लिए सम्बंधित अधिकारियों को सतत निरीक्षण करने की आवश्यकता है। 
गौठानो के नियमित भ्रमण के लिए कार्यक्रम अधिकारी मनरेगा और तकनीकी सहायकों को निर्देश जारी करते हुए उन्होंने कहा कि सहायक विकास विस्तार अधिकारियों को भी बिहान की टीम के साथ इस कार्य में संलग्न किया जाए। 
निर्माण कार्यों की समीक्षा के दौरान सबसे पहले ग्रामीण क्षेत्रों में जनप्रतिनिधियों के द्वारा अनुशंसित निर्माण कार्य की समीक्षा करते हुए उन्होंने पांचों विकासखंड में ग्राम पंचायत वार निर्माण कार्यों की प्रगति का आंकलन किया। लंबे समय से अधूरे पड़े कार्यों के लिए कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए जिला पंचायत सीईओ ने सब इंजीनियर रमोद चौधरी, नितिज गुप्ता, यशवंत वैष्णव और अंकित जैन को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। बैठक में उपस्थित जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को नियमित तौर पर कामों के निरीक्षण करने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि गुणवत्ता में कमी पाए जाने पर सम्बंधित तकनीकी अधिकारी पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी। जिला पंचायत सीईओ ने ग्रामीण क्षेत्रों में समूह की महिलाओं के स्वरोजगार से जुड़े सभी निर्माण कार्यों, बकरी पालन केंद्र, मुर्गी पालन केंद्र, पशु आश्रय स्थल आदि के निर्माण की समय सीमा तय करते हुए सभी कार्य आगामी एक माह में अनिवार्य रूप से पूरा करने के निर्देश दिए। निर्माण कार्य पूरे होने के बाद भी उनकी कार्य पूर्णता प्रमाण पत्र जारी नही किए जाने पर उन्होंने  सभी पूर्ण कार्यों के प्रमाण पत्र दो दिवस में जिला कार्यालय में जमा कराने के निर्देश दिए। ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग के कार्यों की समीक्षा करते हुए उन्होंने कई लंबित कार्यों के लिए सम्बंधित तकनीकी अधिकरियों को जमकर फटकार लगाई। ग्राम पंचायतों में गुड गवर्नेंस के तहत सात पंजी के संधारण और सभी वर्क फ़ाइल के संधारण के लिए एक सप्ताह की समय सीमा तय करते हुए सभी दस्तावेज तैयार करने के निर्देश दिए। विद्यालय की मरम्मत के सभी कामो को एक माह में पूरा करने के निर्देश देते हुए जिला पंचायत सीईओ ने सभी कार्य पूरी गुणवत्ता के साथ जल्द पूरा करने के निर्देश दिए। इस बैठक में अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी प्रशांत कुशवाहा, वन मडल बैकुंठपुर, मनेन्द्रगढ़ और गुरु घासीदास उद्यान के अधिकारियों के साथ कृषि, उद्यानिकी, मत्स्य, पशुपालन विभाग, जल संसाधन विभाग, स्वच्छ भारत मिशन, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, महात्मा गांधी नरेगा और अक्षय ऊर्जा विभाग के जिला स्तरीय अधिकारी, सभी अनुविभागीय अधिकारी आर ई एस, तकनीकी सहायक उपस्थित रहे।