अवैध शराब बिक्री की लंबे समय से मिल रही थी जानकारी,कलेक्टर खुद ग्राहक बन कर पहुचे,जानिए फिर क्या हुआ....

अवैध शराब बिक्री की लंबे समय से मिल रही थी जानकारी,कलेक्टर खुद ग्राहक बन कर पहुचे,जानिए फिर क्या हुआ....

उमरिया जिले में रविवार की सुबह उस समय हलचल मच गई, जब कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव मार्निंग वॉक पर अपनी पहचान छुपाकर नई सब्जी मंडी स्थित उस ठेले में पहुंचे, जहां लंबे समय से अवैध देशी शराब लोगों को परोसी जा रही थी । यहां कलेक्टर ने सामान्य ग्राहक बन सीधे दुकान संचालक से एक पाव देशी शराब मांगी, जिसके बाद दुकानदार ने सहजता से कलेक्टर को शराब उपलब्ध कराई. जिसके बाद दुकानदार शराब के पैसे मांगने लगा.

दुकानदार ने जब दोबारा पैसे की मांग की तो कलेक्टर ने कहा कि देता हूं, थोड़ा इंतजार तो करो. फिर क्या था. आबकारी विभाग के अधिकारी व नगरीय प्रशासन का अमला मौके पर पहुंच गया. कार्रवाई शुरू होते देख दुकानदार सहित बैठकर शराब पी रहे लोग रफूचक्कर हो गए।
बताया जाता है कि कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव ने नई सब्जी मंडी स्थित दो ठेलों को स्थल से हटाने निर्देश दिया, जिसके बाद नगरपालिका सीएमओ शशि कपूर की अगवाई में अतिक्रमण स्थल पर रखे दोनों ठेलों को स्थल से हटा करा दिया है।

16 देशी पाव जब्त

कलेक्टर ने तत्काल नगरपालिका और आबकारी विभाग को मौके पर तलब किया. जिसके बाद दुकान से 16 पाव देशी प्लेन मदिरा जब्त की है. वहीं कलेक्टर के निर्देश पर अतिक्रमण में बनाई गई दुकान को भी जमीदोंज कर दिया गया है।