स्वास्थ्य मंत्री के बयान से भड़के अस्थाई स्वास्थ्य कर्मी,भीख मांग एकत्र राशि,सामग्री को तहसीलदार के माध्यम से भेजा मुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री को..जाने क्या है इनकी मांग.....

स्वास्थ्य मंत्री के बयान से भड़के अस्थाई स्वास्थ्य कर्मी,भीख मांग एकत्र राशि,सामग्री को तहसीलदार के माध्यम से भेजा मुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री को..जाने क्या है इनकी मांग.....

रायपुर(छत्तीसगढ़)

सेवा वृद्धि की मांग को लेकर रायपुर के बूढ़ा तालाब धरना स्थल पर बैठे अस्थाई  कोविड-19 स्वास्थ्य कर्मचारी आंदोलन के सातवें दिन में भीख मांग कर अपना विरोध प्रदर्शन किया एवं भीख से मिली राशि एवं सामग्री को मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री को तहसीलदार के माध्यम से प्रेषित किया।

स्वास्थ्य मंत्री के बयान के बाद भड़के स्वास्थ्य कर्मी स्वास्थ्यकर्मियों ने अब घर-घर जाकर लोगों को कोरोना की लहर के लिए खुद की सुरक्षा खुद करने की सलाह देते हुए कोरोना से बचने के उपाय भी बताएं.

कोरोना योद्धाओं द्वारा भीख मांगकर किया विरोध प्रदर्शन

पिछले 6 दिन से सेवा वृद्धि को मांग को लेकर धरने पर बैठे अस्थाई स्वास्थ्य कर्मी आज अलग-अलग टोली बनाकर रायपुर के अलग-अलग वार्डो में जाकर लोगों को जागरूकता के लिए पर्चे भी बांटे साथ ही साथ उन्होंने यह भी बताया कि

अब कोरोना की तीसरी लहर में खुद की सुरक्षा खुद को करनी होगी क्योंकि जिन्होंने कोरोना की पहली और दूसरी लहर ने मोर्चा संभाला सरकार ने उन्हें को नौकरी से निकाला तो अब ऐसे में कोरोना की तीसरी लहर में छत्तीसगढ़ की जनता को खुद की सुरक्षा खुद करनी होगी इसके पर्चे बांटते हुए कोरोना से कैसे बचा जा सकता है उसकी भी जानकारी लोगों को दी. साथ ही साथ कोरोना योद्धाओं ने यह भी कहा कि स्वास्थ्य विभाग को बचाना है टीएस बाबा को हटाना है यह नारा सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहा है ।