तालाबंदी:- धान खरीदी के नवीन उपकेंद्र में किसान तालाबंदी कर बैठे धरने पर,,मांगे पूरी नही होने तक करेंगे धरना प्रदर्शन

तालाबंदी:- धान खरीदी के नवीन उपकेंद्र में किसान तालाबंदी कर बैठे धरने पर,,मांगे पूरी नही होने तक करेंगे धरना प्रदर्शन

लोरमी -- 1 दिसंबर से पूरे प्रदेश में धान खरीदी की शुरुआत जोर शोर से हो गई है इसके बाद सभी किसान अपने धान को लेकर खरीदी केंद्र पहुंच रहे हैं खरीदी केंद्रों में ग्राम अनुसार अलग-अलग ग्रामों के किसानों का टोकन काटा जा रहा है साथ ही धान की खरीदी की जा रही है। लंबे समय से मांग थी कि ग्राम साल्हेघोरी में नवीन उप केंद्र खोला जाए जिसे पूरा करते हुए राज्य सरकार ने साल्हेघोरी में  धान खरीदी का नवीन उपकेंद्र खोलने की मंजूरी दी। जिसके बाद गोड़खाम्ही से अलग होकर साल्हेघोरी में अलग नया धान खरीदी का उपकेंद्र बनाया गया जहां 7 गांव के किसानों का धान खरीदा जा रहा है। लेकिन इस नवीन धान खरीदी केंद्र में साल्हेघोरी गांव के ही किसानों का धान नहीं खरीदा जा रहा है। जिसका कारण है कि कम्प्यूटर में साल्हेघोरी गांव के किसी भी किसानों का नाम नही दिख रहा है। जिससे गुस्साएं किसानों ने आज साल्हेघोरी धान खरीदी केंद्र में तालाबंदी कर धरने में बैठ गए है।

बतां दें कि साल्हे

घोरी में करीब 350 किसान है जो पहले अपना धान बेचने गोड़खाम्ही पहुँचते थे लेकिन साल्हेघोरी में नवीन धान खरीदी केंद्र बनने के बाद से गाँव के किसानों को अपने ही गाँव मे धान बेचने की बात जानकर काफी खुशी थी लेकिन दो हफ्ते बीत जाने के बाद भी आज तक इन किसानों के धान का एक दाना भी नही खरीदा गया है।

वहीं धरना दे रहे किसानों ने बताया कि लंबी मांग के बाद हमारे गांव में धान खरीदी का नवीन उप केंद्र बनाया गया जहां आसपास के 6 गांवों के किसानों का धान खरीदा जा रहा है लेकिन एकमात्र हमारे गांव साल्हेघोरी का धाम खरीदा नहीं जा रहा है इसके बारे में खरीदी केंद्र के कर्मचारियों से जानकारी ली जाती है तो उनका कहना है कि कंप्यूटर में मैपिंग नहीं होने के कारण साल्हेघोरी गांव के किसी भी किसान का नाम शो नहीं कर रहा है जिसके कारण धान की खरीदी नहीं हो पा रही हैं। धरना दे रहे किसानों ने कहा कि जब तक हमारे गांव के किसानों की धान खरीदी की शुरुआत नहीं होती है तब तक हम धान खरीदी केंद्र के सामने बैठकर धरना प्रदर्शन करते रहेंगे।