मनरेगा कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर लोरमी विधायक डॉ धर्मजीत सिंह को सौंपा ज्ञापन,,डॉ धर्मजीत सिंह ने मनरेगा कर्मचारियों का किया समर्थन

मनरेगा कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर लोरमी विधायक डॉ धर्मजीत सिंह को सौंपा ज्ञापन,,डॉ धर्मजीत सिंह ने मनरेगा कर्मचारियों का किया समर्थन

मुंगेली -- प्रदेश भर के मनरेगा कर्मचारी अपनी नियमितीकरण सहित 2 सूत्रीय मांगों को लेकर 4 अप्रैल से लगातार आंदोलन कर रहे है लेकिन अभीतक प्रदेश सरकार के द्वारा इनकी मांगो पर किसी प्रकार का कोई फैसला नही लिया गया है यही वजह है कि मनरेगा कर्मचारी संघ के द्वारा अपनी मांगों को पूरा कराने अड़े हुए है वही इनके द्वारा तरह तरह के जतन करते हुए अपनी मांगों से प्रदेश सरकार का ध्यान आकर्षित कराने का प्रयास किया जा रहा है इसी के तहत आज 50 दिन पूरे होने पर मनरेगा कर्मचारी महासंघ के नेतृत्व में लोरमी विधायक डॉ धर्मजीत सिंह से स्थानीय सर्किट हाउस में मुलाकात कर संघ के पदाधिकारियों ने अपनी मांगों से अवगत कराते हुए उन्हें ज्ञापन सौंपा।

जिसके बाद विधायक डॉ धर्मजीत सिंह ने इनकी मांगो का समर्थन करते हुए कहा कि मनरेगा कर्मचारियों के हड़ताल पर चले जाने से पूरे प्रदेश सहित हमारे जिले में भी गांवों और पंचायतों में मनरेगा के कार्य पूरी तरह से ठप्प पड़ गया है जिससे ग्रामीण अंचल में विकासकार्य पूरी तरह से प्रभावित हो रहे है ऐसे में प्रदेश सरकार को इनके मांगो पर गंभीरता से विचार करते हुए उचित कदम उठाने की आवश्यकता है वही उन्होंने कहाकि अधिकारियों के नेतृत्व में जो कमेटी का गठन किया गया है उनके द्वारा जल्द अपनी रिपोर्ट मुख्यमंत्री के समक्ष पेश करते हुए उन्हें मनरेगा कर्मचारियों की मांगों से अवगत कराना चाहिए ताकि इनका हड़ताल खत्म हो और प्रदेश में मनरेगा के तहत होने वाले कार्य एक बार फिर से सुचारू रूप से संचालित हो सके और स्थानीय ग्रामीणों को इस योजना के तहत रोजगार मिल सके।

वही मनरेगा कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष देव बर्मन ने बताया कि पूरे जिले में करीब 5 सौ एवं प्रदेश में 15 हजार के करीब मनरेगा कर्मचारी कार्यरत है जो पिछले 4 अप्रैल से लगातार धरना आंदोलन कर रहे है आज हमने लोरमी विधायक डॉ धर्मजीत सिंह से मिलकर उन्हें अपनी मांगों से अवगत कराते हुए इस ओर प्रदेश सरकार का ध्यान आकर्षित कराने निवेदन किया गया है हमारी जो मांगे है उनमें चुनावी घोषणा पत्र को आत्मसात करते हुए समस्त मनरेगा कर्मचारियों को नियमित किया जावे वही नियमितीकरण की प्रक्रिया पूर्ण होते तक समस्त रोजगार सहायकों का ग्रेड पे निर्धारण करते हुए पंचायत नियमावली 1966 के तहत समस्त मनरेगा कर्मचारी पर लागू किया जावे की मांग की गई है जब तक प्रदेश सरकार मांगो पर कोई कदम नही उठाती है तब तक ये आंदोलन अनवरत जारी रहेगा।