क्या अमेरिका में नया वेरिएंट फिर से बढ़ाएगा टेंशन? कई राज्यों में मिले Omicron Variant के मामले

अमेरिकी स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि घबराने की कोई जरूरत नहीं है. हालांकि, संक्रमितों में कुछ ऐसे लोग भी शामिल हैं जो हाल में घर से दूर यात्रा पर नहीं गए थे. इसका मतलब है कि वायरस का यह वेरिएंट पहले से ही अमेरिका के कुछ हिस्सों में फैल चुका था.

क्या अमेरिका में नया वेरिएंट फिर से बढ़ाएगा टेंशन? कई राज्यों में मिले Omicron Variant के मामले

अमेरिका (America) इस हफ्ते के मध्य से पहले कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ‘ओमीक्रोन’ (New Coronavirus Variant Omicron) से अछूता था, लेकिन गुरुवार को कम से कम पांच राज्यों में वायरस के इस नए वेरिएंट की पुष्टि हुई. इससे एक बार फिर यह साबित हुआ है कि यह वायरस अपने स्वरूप में परिवर्तन कर तेजी और आसानी से दुनिया में फैल सकता है.

कैलिफोर्निया (California) में पहला ज्ञात मामला सामने आने के ठीक एक दिन बाद जांच से पता चला कि ओमीक्रोन ने न्यूयॉर्क शहर में कम से कम पांच लोगों को संक्रमित किया, साथ ही मिनेसोटा का एक व्यक्ति संक्रमित पाया गया, जिसने नवंबर के अंत में मैनहट्टन में एक सम्मेलन में भाग लिया था. अधिकारियों ने हाल में दक्षिण अफ्रीका की यात्रा पर गई कोलोराडो की एक महिला के संक्रमित होने की सूचना दी.

ओमीक्रोन कितना संक्रामक और खतरनाक

राज्य के स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) नहीं लगवाने वाले हवाई के एक व्यक्ति में भी ओमीक्रोन की पुष्टि हुई है, जो हाल में कहीं यात्रा पर नहीं गया था. विशेषज्ञ अभी इस बात का अध्ययन कर रहे हैं कि ओमीक्रोन कितना संक्रामक और खतरनाक है. अमेरिकी राज्यों के स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि घबराने की कोई जरूरत नहीं है. हालांकि, संक्रमितों में कुछ ऐसे लोग शामिल थे जो हाल में घर से दूर यात्रा पर नहीं गए थे. इसका मतलब है कि वायरस का यह स्वरूप पहले से ही अमेरिका के कुछ हिस्सों में फैल चुका था.

‘ओमीक्रोन वेरिएंट के आने से बूस्टर डोज की जरूरत बढ़ी’

कोविड-19 का मुकाबला करने को लेकर नए उपायों का खुलासा करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि ओमीक्रोन वेरिएंट के उद्भव से बूस्टर डोज की जरूरत बढ़ गई है. बाइडेन ने अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए कड़े प्रतिबंध और घर पर टेस्टिंग तक पहुंच बनाने की योजना बनाई है. अमेरिका में कोरोना के शुरुआती चरण के दौरान लोगों ने खासा लापरवाही बरती थी. पूर्ववर्ती डोनाल्ड ट्रंप की सरकार ने कोविड को लेकर लापरवाही दिखाई, जिसकी वजह से बड़ी संख्या में लोगों को जान गंवानी पड़ी.

कई देशों में फैला कोरोना का ओमीक्रोन वेरिएंट

इस बीच, जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल ने गुरुवार को कहा कि जिन लोगों का वैक्सीनेशन नहीं हुआ है, उन्हें गैर-जरूरी दुकानों, सांस्कृतिक और मनोरंजक स्थलों से बाहर रखा जाएगा. उन्होंने कहा कि संसद एक सामान्य वैक्सीन जनादेश पर विचार करेगी जो फरवरी से लागू होगा. वहीं, बता दें कि भारत, फिनलैंड और नॉर्वे भी गुरुवार को ओमीक्रोन वेरिएंट के मामलों को रिपोर्ट करने वाले नवीनतम देश बन गए.