जांजगीर नौकरी लगाने का झांसा देकर नाबालिग अपहृता से ठगी करने वाले दो आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़े

जांजगीर नौकरी लगाने का झांसा देकर नाबालिग अपहृता से ठगी करने वाले दो आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़े

थाना नवागढ़ रमशिला दिवाकर पति निरंजन दिवाकर उम्र 35 वर्ष साकिन बरभाठा थाना नवागढ थाना में लिखित आवेदन पेश की नाबालिक लड़की उम्र 16 वर्ष ग्राम बरभाठा जो कक्षा 10 वीं तक पढ़ी हैं। दिनांक 30/03/21 के 01.00 बजे दिन को बिना बताये घर से कहीं चली गई है। प्रार्थी के रिपोर्ट पर थाना नवागढ़ में गुम इंसान क्र. 23 / 21 एवं अपराध क्र. 141/21 धारा 363 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। 

विवेचना के दौरान नाबालिक अपहृता अपने माता पिता के साथ थाना नवागढ उपस्थित हुई जिससे पूछताछ कर बयान दर्ज किया गया। नाबालिकने अपने बयान में दीनदयाल घृतलहरे ग्राम सरवानी थाना कसडोल द्वारा नौकरी लगाने का झांसा देकर बहला फुसला कर ग्राम गिद्धा से अपने मो ० सा ० में बिलासपुर ले जाकर अपने दोस्त अजय विश्वकर्मा के साथ पीडिता के पास रखे 50000 रू व सोने के जेवरात को ठगी कर लिये है तथा पीडिता को बिलासपुर में ही छोड़कर भाग गये हैं।  

 प्रकरण में आरोपियों की पतासाजी की जा रही थी जो सकुनत से फरार थें । मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक प्रशांत ठाकुर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संजय महादेवा (रा.प.से.) एवं एसडीओपी जांजगीर चन्द्रशेखर परमा (रा.पु.से.) द्वारा आरोपियों की तत्काल गिरफतारी के दिशा निर्देश देने पर दिनांक 20/10/21 को ग्राम सरवानी थाना कसडोल व बिलासपुर मंगला चौक से आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ किया गया। 

 आरोपियों द्वारा जुर्म स्वीकार करने तथा अपने अपने मेंमोरेण्डम कथन में बताने पर आरोपियों से एक सोने का लाकेट 6 नग सोने का गेंहू दाना व 1000 रु को मुताबिक जप्ती पत्रक के जप्त कर कब्जा पुलिस लिया गया। प्रकरण में आरोपियों द्वारा नाबालिक लडकी को नौकरी का झांसा देकर बहला फुसला कर ले जाने व रूपये, जेवरात की ठगी करना पाये जाने से प्रकरण में धारा 420 , 34 भादवि जोड़ी गई है। 

 आरोपियों 1. दीनदयाल उर्फ दीनू पिता किशनलाल घृतलहरे उम्र 26 वर्ष ग्राम सरवानी थाना कसडोल जिला बलौदाबाजार 2. अजय विश्वकर्मा पिता रामजी विश्वकर्मा उम्र 21 वर्ष सा ० विनोचक कालोनी अटल आवास थाना सिविल लाइन बिलासपुर को दिनांक 20/10/21 को ही गिरफ्तार कर आज दिनांक 21/10/21 को न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है ।             

उपरोक्त कार्यवाही अनुविभागीय अधिकारी पुलिस चंद्रशेख परमा के नेतृत्व में थाना प्रभारी देवेश सिंह राठौर , प्र.आर. एनुका तिर्की , सुशील बडा , आर . शिवभोला कश्यप, अर्जुन यादव , दिलीप कश्यप , भुनेश्वर साहू , गुलशन लकडा का सराहनीय योगदान रहा ।