कांग्रेस जहां एक तरफ सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट का विरोध कर रही , तो दूसरी तरफ विधायकों के लिए बनवा रही 160 फ्लैट

कांग्रेस जहां एक तरफ सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट का विरोध कर रही , तो दूसरी तरफ विधायकों के लिए बनवा रही 160 फ्लैट

एक तरफ कांग्रेस राष्ट्रीय राजधानी में सेंट्रल विस्टा परियोजना (Central Vista Project) का विरोध कर रही है तो वहीं राजस्थान में उसकी सरकार ने ज्योति नगर में राज्य विधानसभा के पास विधायकों के लिए 160 “शानदार फ्लैट” का निर्माण शुरू किया है. कोरोना की दूसरी लहर के बीच 20 मई से यह निर्माण कार्य शुरू हुआ है.

राजस्थान हाउसिंग बोर्ड (RHB) द्वारा विधायकों के लिए 160 आलीशान फ्लैटों के निर्माण की परियोजना शुरू की गई है. हाउसिंग बोर्ड के एक अधिकारी ने कहा कि प्रत्येक फ्लैट 3,200 वर्ग फुट के क्षेत्र में बनाया जाएगा और इसमें चार बेडरूम होंगे. 160 फ्लैट 266 करोड़ रुपये की लागत से बनेंगे.

4 बेडरूम वाला होगा फ्लैट

अधिकारी ने कहा, “काम समय पर शुरू हो गया है. यह परियोजना राजस्थान विधानसभा के ठीक सामने है और 160 फ्लैटों का निर्माण किया जा रहा है. प्रत्येक फ्लैट 3,200 वर्ग फुट में बनेगा. इसमें चार बेडरूम और अलग पार्किंग की जगह होगी.”

अधिकारी ने कहा कि जयपुर विकास प्राधिकरण (JDA) ने 176 फ्लैटों का प्रस्ताव दिया था, लेकिन राजस्थान हाउसिंग बोर्ड ने 160 फ्लैटों के निर्माण के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी. परियोजना को पूरे होने में ढाई साल लगेंगे. राजस्थान हाउसिंग बोर्ड निर्धारित समय से पहले इसे पूरा करने की उम्मीद कर रहा है.

कानून के हिसाब से बन रहे फ्लैट- डोटासरा

परियोजना के बारे में पूछे जाने पर, राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा, “यह कानून के अनुसार किया जा रहा है”. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पिछले महीने सेंट्रल विस्टा परियोजना को “आपराधिक अपव्यय” करार दिया था. राष्ट्रीय राजधानी के केंद्र में पुनर्विकास परियोजना में एक नए संसद भवन और एक सामान्य केंद्रीय सचिवालय का निर्माण शामिल है.