अरे ये क्या नींबू घोटाला में जेलर निलंबित…. जानिए क्या है पूरा माजरा

अरे ये क्या नींबू घोटाला में जेलर निलंबित…. जानिए क्या है पूरा माजरा
नींबू

जालंधर : एक तरफ नींबू की आसमान छू रही कीमतों के कारण आम आदमी गर्मी में भी इससे दूरी बनाता दिखाई दे रहा है, वहीं पंजाब में गजब का नींबू घोटाला सामने आया है। इस मामले में कपूरथला मॉडर्न जेल के सुपरिंटेंडेंट गुरनाम लाल को निलंबित कर दिया गया है। जेल मंत्री हरजोत बैस के आदेश पर जेल के सुपरिंटेंडेंट को निलंबित कर दिया गया है। पूरा मामला 50 किलो नींबू की ‘खरीद’ से जुड़ा है। 

जेल सुपरिंटेंडेंट गुरनाम लाल ने  राशन  खरीद में 50 किलो नींबू खरीदे जाने की बात अपने बिल में बताई थी। यह बिल विभाग को उस वक्त भेजा गया था जब बाजार में नींबू का भाव 200 रु प्रति किलो से ज्यादा था। लेकिन एक नींबू जेल के कैदियों को भी नसीब नहीं हुए। जब जांच करने के लिए पैनल जेल में पहुंचा तो जेलर की सारी पोल खुल गई।

ऐसे सामने आया जेल का नींबू घोटाला

वहीं मामला सामने आते ही जेव विभाग के सभी बड़े अफसर एक्शन में आ गए हैं। पंजाब एडीजीपी  वीरेंद्र कुमार ने  मीडिया से बात करते हुए कहा-जेल के कैदियों को सही आहार मुहैया कराने में कपूरथला मॉडर्न जेल सुपरिंटेंडेंट ने यह गड़बड़ी की है। मामला आते ही जेल अधीक्षक को निलंबित कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि डीआईजी की अगुवाई में एक टीम का गठन किया गया था। जिसने बारीकी से पूरे मामले की जांच की। कपूरथला जेल के कैदियों के लिए जो नींबू बुलवाए थे वो रिकॉर्ड में कहीं नहीं मिले। ना ही कैदियों को यह नींबू मिले। इस जांच के दौरान कई अनियमितताएं भी देखने को मिलीं। जिसके आधार पर जेलर को निलंबित कर दिया गया है।