गांगुली ने कहा था- ‘जब तक मैं BCCI में हूं, तुम टीम में हो’- ऋद्धिमान साहा का खुलासा

ऋद्धिमान साहा ने बताया कि न्यूजीलैंड के खिलाफ कानपुर टेस्ट में 61 रन की नाबाद पारी खेलने के बाद उन्हें सौरव गांगुली की ओर से एक व्हाट्स एप मैसेज मिला था.

गांगुली ने कहा था- ‘जब तक मैं BCCI में हूं, तुम टीम में हो’-  ऋद्धिमान साहा का खुलासा
साहा ने गांगुली से मिले मैसेज का किया खुलासा

ऋद्धिमान साहा (Wriddhiman Saha) भारत की टेस्ट टीम का हिस्सा अब नहीं हैं. उन्हें श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए चुनी टीम इंडिया से बाहर कर दिया गया है. बस उसके बाद से ही भारत के विकेटकीपर बल्लेबाज सुर्खियों में हैं. उनके वो इंटरव्यू मीडिया में छाए हैं, जिसमें उन्होंने एक से बढ़कर एक बड़े बयान दिए थे. इन्हीं में से एक बयान उनका BCCI के अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) से भी जुड़ा है, जिसने अब तूल पकड़ लिया है. साहा का ये कथन गांगुली की ओर से मिले उस दिलासे से जुड़ा है, जो उन्होंने कानपुर टेस्ट के बाद दिया था.

ऋद्धिमान साहा ने बताया कि न्यूजीलैंड के खिलाफ कानपुर टेस्ट में 61 रन की नाबाद पारी खेलने के बाद मुझे सौरव गांगुली की ओर से एक व्हाट्स एप मैसेज मिला, जिसमें लिखा था- ‘जब तक मैं BCCI में हूं, तुम टीम में हो.’ उन्होंने बताया कि उस संदेश ने उनके आत्मविश्वास को बढ़ा दिया था. लेकिन अब सबकुछ अचानक ही बदल गया.

साहा ने सुनाया कानपुर टेस्ट का वो किस्सा

पिछले साल नवंबर के आखिर में खेले उस टेस्ट के दौरान ऋद्धिमान साहा गर्दन की दर्द से जूझ रहे थे. उन्होंने उस दर्द में वो 61 रन की पारी खेली थी. हालत इतनी बुरी थी कि विकेटकीपिंग उनकी जगह उस मैच में केएस भरत ने की थी. साहा की उस इनिंग की तब गांगुली ने सराहना की थी. उन्होंने बताया कि, ” न्यूजीलैंड के खिलाफ 61 रन वाली नाबाद पारी के बाद दादी (गांगुली) ने मुझे व्हाट्स एप मैसेज कर मुबारकबाद दी. और लिखा कि जब तक मैं BCCI में हूं, तुम टीम में हो.” उन्होंने कहा कि BCCI अध्यक्ष से इतनी बड़ी बात सुनने के बाद मेरा आत्मविश्वास और बढ़ गया था. लेकिन अब मैं ये समझ नहीं पा रहा हूं कि सबकुछ अचानक कैैसे बदल गया?

साहा ड्रॉप क्यों, कोई नहीं बता रहा?

गांगुली के उस मैसेज के ढाई महीने के बाद की तस्वीर बिल्कुल अलग है. साहा टीम के अंदर नहीं बल्कि बाहर हैं. कोई नहीं बता रहा कि उन्हें ड्रॉप क्यों किया गया. चयन समिति के चीफ चेतन शर्मा कहते हैं कि हम इस बारे में कुछ नहीं कह सकते. टीम में चयन नहीं होने के बाद साहा ने ये भी बताया कि हेड कोच राहुल द्रविड़ और टीम मैनेजमेंट ने उनसे संन्यास के बारे में विचार करने को कहा था क्योंकि अब चयन को लेकर उनके बारे में विचार नहीं किया जाएगा.