पृथ्वी के पास से बुर्ज खलीफा के आकार से बड़ा गुजरने वाला है एक विशाल एस्टेरॉयड अगर धरती से हुई टक्कर तो मचेगी भयंकर तबाही

Asteroid size of Burj Khalifa: अमेरिका स्पेस एजेंसी NASA ने बताया है कि पृथ्वी के पास से बुर्ज खलीफा के आकार से बड़ा एक विशाल एस्टेरॉयड गुजरने वाला है.

पृथ्वी के पास से बुर्ज खलीफा के आकार से बड़ा गुजरने वाला है  एक विशाल  एस्टेरॉयड  अगर धरती से हुई टक्कर तो मचेगी भयंकर तबाही
दुनिया की सबसे ऊंची इमारत बुर्ज खलीफा के आकार से बड़ा एक विशाल एस्टेरॉयड 18 जनवरी को 12,30,000 मील की दूरी पर पृथ्वी के ऊपर से गुजरेगा. एस्टेरॉयड 7482, जिसे 1994 पीसी1 के रूप में भी जाना जाता है, लगभग 1.6 किमी चौड़ा है.
दुनिया की सबसे ऊंची इमारत बुर्ज खलीफा के आकार से बड़ा एक विशाल एस्टेरॉयड 18 जनवरी को 12,30,000 मील की दूरी पर पृथ्वी के ऊपर से गुजरेगा. एस्टेरॉयड 7482, जिसे 1994 पीसी1 के रूप में भी जाना जाता है, लगभग 1.6 किमी चौड़ा है.
 
2/6
अमेरिका स्पेस एजेंसी NASA ने इसे बेहद ही खतरनाक एस्टेरॉयड के रूप में नामित किया है. दरअसल, इसे खतरनाक इसलिए माना गया है, क्योंकि ये पृथ्वी के बेहद ही करीब से गुजरने वाला है. पृथ्वी के पास से अक्सर ही एस्टेरॉयड गुजरते रहते हैं, लेकिन ज्यादा करीब आने पर इनसे खतरा होता है.
अमेरिका स्पेस एजेंसी NASA ने इसे बेहद ही खतरनाक एस्टेरॉयड के रूप में नामित किया है. दरअसल, इसे खतरनाक इसलिए माना गया है, क्योंकि ये पृथ्वी के बेहद ही करीब से गुजरने वाला है. पृथ्वी के पास से अक्सर ही एस्टेरॉयड गुजरते रहते हैं, लेकिन ज्यादा करीब आने पर इनसे खतरा होता है.
 
3/6
NASA एस्टेरॉयड्स को संभावित रूप से खतरनाक तब मानता है, जब ये लगभग 140 मीटर से अधिक आकार वाले होते हैं. इसके अलावा, अगर एस्टेरॉयड पृथ्वी की कक्षा के 46 लाख मील करीब होता है. ये एक नियर अर्थ ऑब्जेक्ट भी है, क्योंकि ये 1.3 एस्ट्रोनॉमिकल यूनिट से अधिक करीब है. एक एस्ट्रोनॉमिकल यूनिट पृथ्वी और सूर्य के बीच की दूरी से थोड़ा अधिक होती है.
NASA एस्टेरॉयड्स को संभावित रूप से खतरनाक तब मानता है, जब ये लगभग 140 मीटर से अधिक आकार वाले होते हैं. इसके अलावा, अगर एस्टेरॉयड पृथ्वी की कक्षा के 46 लाख मील करीब होता है. ये एक नियर अर्थ ऑब्जेक्ट भी है, क्योंकि ये 1.3 एस्ट्रोनॉमिकल यूनिट से अधिक करीब है. एक एस्ट्रोनॉमिकल यूनिट पृथ्वी और सूर्य के बीच की दूरी से थोड़ा अधिक होती है.
 
4/6
पृथ्वी पर अगर एस्टेरॉयड 7482 के आकार के एस्टेरॉयड की टक्कर होती है, तो इससे व्यापक तौर पर तबाही मच सकती हैं. हालांकि, राहत की बात ये है कि NASA ने इस एस्टेरॉयड को लेकर कहा है कि ये पृथ्वी से 12 लाख मील दूर से ही सुरक्षित गुजर जाएगा.
पृथ्वी पर अगर एस्टेरॉयड 7482 के आकार के एस्टेरॉयड की टक्कर होती है, तो इससे व्यापक तौर पर तबाही मच सकती हैं. हालांकि, राहत की बात ये है कि NASA ने इस एस्टेरॉयड को लेकर कहा है कि ये पृथ्वी से 12 लाख मील दूर से ही सुरक्षित गुजर जाएगा.
 
5/6
पृथ्वी के लिए संभावित खतरनाक एस्टेरॉयड का सबसे करीबी अप्रोच 18 जनवरी को शाम 4.51 बजे EST (भारतीय समय के मुताबिक 19 जनवरी को सुबह 3.21 बजे ) होगा. अर्थस्काई के अनुसार, ये अप्रोच अगले 200 सालों के लिए इस एस्टेरॉयड का पृथ्वी से सबसे करीब फ्लाई पोस्ट होने वाला है.
पृथ्वी के लिए संभावित खतरनाक एस्टेरॉयड का सबसे करीबी अप्रोच 18 जनवरी को शाम 4.51 बजे EST (भारतीय समय के मुताबिक 19 जनवरी को सुबह 3.21 बजे ) होगा. अर्थस्काई के अनुसार, ये अप्रोच अगले 200 सालों के लिए इस एस्टेरॉयड का पृथ्वी से सबसे करीब फ्लाई पोस्ट होने वाला है.
 
6/6
पृथ्वी पर सबसे एस्टेरॉयड की टक्कर आठ साल पहले रूस में हुई थी. लेकिन ये एस्टेरॉयड पृथ्वी के वातावरण में प्रवेश करने के साथ ही फट गया और इसके टुकड़े पृथ्वी से टकरा गए. NASA ने हाल ही में एस्टेरॉयड को लेकर एक मिशन लॉन्च किया है, जिसका मकसद एस्टेरॉयड को स्पेसक्राफ्ट के जरिए टक्कर मार कर उसकी दिशा बदलना है.
पृथ्वी पर सबसे एस्टेरॉयड की टक्कर आठ साल पहले रूस में हुई थी. लेकिन ये एस्टेरॉयड पृथ्वी के वातावरण में प्रवेश करने के साथ ही फट गया और इसके टुकड़े पृथ्वी से टकरा गए. NASA ने हाल ही में एस्टेरॉयड को लेकर एक मिशन लॉन्च किया है, जिसका मकसद एस्टेरॉयड को स्पेसक्राफ्ट के जरिए टक्कर मार कर उसकी दिशा बदलना है.