कांग्रेस नेता के घर दिनदहाड़े लूट, महिलाओं को बंधक बनाकर हथियारबंद बदमाश नकदी और गहने लेकर फरार

बिलासपुर के कांग्रेस के जिला सचिव के घर से बदमाश लाखों की नकदी और गहने लेकर फरार हो गए. घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस शहर सहित बाहर निकलने वाले रास्तों पर नाकेबंदी कर जांच कर रही है.

कांग्रेस नेता के घर दिनदहाड़े लूट, महिलाओं को बंधक बनाकर हथियारबंद बदमाश नकदी और गहने लेकर फरार

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर (Bilaspur) के दर्रीघाट में एक कांग्रेस नेता के घर पर दिनदहाड़े डकैती का मामला सामने आया है (Robbery At Congress Leader Home). जानकारी के मुताबिक नकाबपोश बदमाश हथियार लेकर घर में घुसे और बंदूक दिखा कर अलमारी में रखे नकदी, सोने-चांदी के गहने लूट कर फरार हो गए. यहीं नहीं बदमाशों मे घर में मौजूद महिलाओं को बंधक भी बनाया. सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और जांच की. पुलिस शहर सहित बाहर निकलने वाले रास्तों पर नाकेबंदी कर जांच कर रही है.

पीड़ित दर्रीघाट निवासी टाकेश्वर पाटले कांग्रेस के जिला सचिव हैं. डकैती की नियत से कांग्रेस के जिला सचिव टाकेश्वर पाटले के घर पर घुसे नकाबपोश बदमाश हाथ में बंदूक लिए हुए थे. घर में घुसते ही आरोपियों ने पहले वहां मौजूद महिलाओं को बंधक बनाया और उसके बाद बंदूक के दम पर डकैती को अंजाम दिया. घटना गुरुवार सुबह करीब 11 बजे की बताई जा रही है. घटना के समय टाकेश्वर पाटले घर से बाहर थे. उसी समय 8-9 की संख्या में हेलमेट व मास्क लगाए बदमाश पहुंचे और बंदूक दिखाकर महिलाओं को धमकाने लगे.

8-9 बदमाश हेलमेट और मास्क लगा कर घुसे

डकैतों ने उनके हाथों को रस्सी से बांध दिया. इसके बाद अलमारी खोलकर उसमें रखे सोने-चांदी के गहनों के साथ ही नकदी लूटकर फरार हो गए. उनके जाने के बाद वारदात की सूचना पुलिस और टाकेश्वर पाटले को दी गई. घर के लोगों ने पुलिस को बताया कि सुबह 8-9 युवक आए थे. सभी हेलमेट व मास्क लगाए हुए थे. उन्होंने बंदूक दिखाकर घर की महिलाओं को धमकाया. उसके बाद सभी के हाथ रस्सी से बांध दिए और अलमारी में रखे 2.5 लाख नकद व सोने-चांदी के जेवर समेत करीब 4 लाख का सामान लूट कर भाग निकले.

सूचना मिलने पर IG रतनलाल डांगी और SP पारूल माथुर के साथ ही स्थानीय थाना पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जांच शुरु की गई. घटना की सूचना कंट्रोल रूम को भी दी गई. जिसके बाद कंट्रोल रूम ने सभी थानों में नाकेबंदी के लिए कहा है. डकैती की वारदात के बाद ही पुलिस अफसर व थानेदार हरकत में आ गए.